ताजा ख़बरेंब्रेकिंग न्यूज़राष्ट्रीय

UNSC की अध्यक्षता कर PM मोदी रचेंगे इतिहास, ऐसा करने वाले देश के पहले प्रधानमंत्री होंगे

UNSC की अध्यक्षता कर PM मोदी रचेंगे इतिहास, ऐसा करने वाले देश के पहले प्रधानमंत्री होंगे

UNSC की अध्यक्षता कर PM मोदी रचेंगे इतिहास, ऐसा करने वाले देश के पहले प्रधानमंत्री होंगे

एक अगस्त को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की अध्यक्षता संभालने के बाद भारत ने साफ तौर पर कह दिया है कि वह समुद्री सुरक्षा, शांति रक्षण और आतंकवाद को रोकने के लिए विशेष तौर पर कार्यक्रमों की मेजबानी करेगा। भारत ने यह भी कहा है कि वह इस अवसर का उपयोग करने के लिए पूरी तरह से तैयार है। हालांकि भारत सुरक्षा परिषद की अध्यक्षता ऐसे समय में करने जा रहा है जब विश्व कोरोना महामारी से जूझ रहा है। साथ ही साथ अफगानिस्तान और आतंकवाद का भी मुद्दा काफी महत्वपूर्ण है। भारत यह तमाम मुद्दे अलग-अलग मंचों पर उठा सकता है। इन सबके बीच खबर यह भी है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यूएनएससी के किसी कार्यक्रम की अध्यक्षता करेंगे। वह भारत के प्रतिनिधि के तौर पर कार्यक्रम की अध्यक्षता करेंगे। साथ ही साथ ऐसा करने वाले पहले प्रधानमंत्री भी बन सकते हैं।

यूएनएससी की तरफ से एक महीने के कार्यक्रम का एजेंडा आज जारी हो सकता है। एजेंडे को अंतिम रूप देने के लिए भारत अपने महत्वपूर्ण सहयोगी जैसे कि फ्रांस, अमेरिका, रूस इत्यादि देशों से लगातार संपर्क में है। भारत अपनी तैयारी इस तरह से कर रहा है कि कैसे वह इस बड़े मौके को हर तरह से भुनाने में कामयाब हो जाएं। यही कारण है कि अगले 1 महीने तक यूएनएससी के अलग-अलग आयोजनों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, विदेश मंत्री एस जयशंकर और विदेश सचिव हर्ष श्रृंगला भी संबोधित कर सकते हैं। हालांकि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आयोजन को संबोधित करेंगे। इसका फैसला फिलहाल होना बाकी है।

संयुक्त राष्ट्र में भारत के पूर्व प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट लिखा है जिसमें उन्होंने अनुमान जताया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संभवत 9 अगस्त को यूएनएससी के कार्यक्रम की अध्यक्षता करेंगे। वह ऐसा करने वाले पहले प्रधानमंत्री होंगे। हालांकि दूसरी और विदेश मंत्रालय का कहना है कि फिलहाल इस पर फैसला होना बाकी है। वैसे योजना में यह भी शामिल है कि विदेश मंत्री एस जयशंकर यूएनजीसी में भारत के हितों से जुड़े किसी महत्वपूर्ण मुद्दे पर रखेंगे। भारत साथ ही साथ सम्मान, संवाद, सहयोग, शांति व समृद्धि पर जोर देगा।

Related Articles

Back to top button
Close