ताजा ख़बरेंब्रेकिंग न्यूज़मुजफ्फरनगर

जनपद न्यायाधीश ने दीज प्रज्जवल कर राष्ट्रीय लोक अदालत का किया शुभारम्भ*

जनपद न्यायाधीश ने दीज प्रज्जवल कर राष्ट्रीय लोक अदालत का किया शुभारम्भ*

मुजफ्फरनगर- 10-07-2021…..सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण श्रीमती सलोनी रस्तोगी ने बताया कि राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली, एवं राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण लखनऊ के आदेशानुसार राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया, लोक अदालत का शुभारम्भ माननीय जनपद न्यायाधीश/अध्यक्ष, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, मुजफफरनगर श्री राजीव शर्मा द्वारा दीप प्रज्जवल कर किया गया। माननीय जनपद न्यायाधीश द्वारा अपने सम्बोधन में राष्ट्रीय लोक अदालत के लाभ बताते हुए कहा कि लोक अदालत का मुख्य उद्देश्य वादकारियों को सरल एवं सुलभ न्याय प्रदान करना है। उन्होंने यह भी कहा कि वादकारी आपसी समझौते के आधार पर वाद का निस्तारण करते हैं तो उनके मध्य आपसी सौहार्द्र बना रहता है। इस अवसर पर प्रधान न्यायाधीश, परिवार न्यायालय, मुजफ्फरनगर श्री पंकज अग्रवाल, पीठासीन अधिकारी मोटर दुर्घटना दावा अधिकरण, श्री मलखान सिंह, नोडल अधिकारी, लोक अदालत, अपर जिला जज, श्री शक्ति सिंह सहित समस्त न्यायिक अधिकारी उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव श्रीमती सलोनी रस्तोगी के द्वारा किया गया।
उन्होने बताया कि जिला विधिक सेवा प्राधिकरण मुजफ्फरनगर की सचिव श्रीमती सलोनी रस्तोगी द्वारा यह बताया गया है कि इस राष्ट्रीय लोक अदालत में जिला न्यायालय मुजफ्फरनगर के 1303 मुकदमें निस्तारित कर 56,43,883/- रूपये अर्थदण्ड वसूल किया गया।
उन्होने बताया कि प्रधान न्यायाधीश परिवार न्यायालय, मुजफ्फरनगर श्री पंकज अग्रवाल की अध्यक्षता में 38 पारिवारिक मुकदमें सभी पारिवारिक न्यायालयों द्वारा निस्तारित किये गये।
पीठासीन अधिकारी मोटर दुर्घटना दावा अधिकरण, श्री मलखान सिंह द्वारा 186 वादों का निस्तारण कर 5,93,21,600/-(पांच करोड़ तिरान्वे लाख इक्कीस हजार छः सौ रूपये) की धनराशि प्रतिकर के रूप में दिलायी गयी।
जिला अधिकारी मुजफ्फरनगर, श्रीमती सेल्वा कुमारी जे के नेतृत्व में राजस्व अधिकारियों द्वारा 18218 प्रकरणों का निस्तारण किया गया।
मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रैट, मुजफ्फरनगर श्री मनोज कुमार जाटव द्वारा 398 फौजदारी शम्मीय वादन का निस्तारण किया गया।
उन्होने बताया कि इस राष्ट्रीय लोक अदालत में विभिन्न बैंकों, भारत संचार निगम लिमिटेड आदि के द्वारा सक्रिय सहभागिता की गयी। भारत संचार निगम लिमिटेड के द्वारा 62 मामलों का समझौते के आधार पर निस्तारण किया गया ।तथा बैंको के द्वारा 246 बैंक ऋण मामले निस्तारण कराकर कुल 3,03,79,000/-रूपये आपसी सुलह समझौते के आधार पर निस्तारण कराकर प्राप्त किये। इस राष्ट्रीय लोक अदालत के कुशल समापन पर नोडल अधिकारी श्री शक्ति सिंह, अपर जिला जज द्वारा लोक अदालत में सहभागिता करने वाले समस्त न्यायिक, पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारियों का आभार व्यक्त किया गया।
उन्होने बताया कि इस राष्ट्रीय लोक अदालत में जनपद मुजफ्फरनगर से कुल 20827 मामलों का निस्तारण किया गया। राष्ट्रीय लोक अदालत के आयोजन में कोविड गाइडलाईन का पालन किया गया तथा मास्क लगाकर ही वादकारियों/अधिवक्ताओं को न्यायालय परिसर में प्रवेश दिया गया।

Related Articles

Back to top button
Close