ताजा ख़बरेंब्रेकिंग न्यूज़राष्ट्रीय

हिमंता बिस्वा सरमा बनें असम के नये मुख्यमंत्री, राज्यपाल ने दिलाई शपथ

हिमंता बिस्वा सरमा बनें असम के नये मुख्यमंत्री, राज्यपाल ने दिलाई शपथ

हिमंता बिस्वा सरमा बनें असम के नये मुख्यमंत्री, राज्यपाल ने दिलाई  शपथ

हिमंत बिस्वा सरमा ने असम के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली। उन्हें राज्यपाल जगदीश मुखी द्वारा शपथ दिलाई जा रही है। समारोह में उपस्थित भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और अन्य नेता भी शामिल हुए। सरमा के आज सुबह लगभग 12 बजे पद की शपथ में शामिल हुए  और मुख्यमंत्री की शपथ ली। समारोह में असम की कैबिनेट के लिए भी मंत्रियों ने शपथ ली। शपथ समारोह में त्रिपुरा के सीएम बिप्लब देब, मेघालय के सीएम कोनराड संगमा, मणिपुर के सीएम एन बीरेन सिंह, और नागालैंड के सीएम नीफिउ रियो भी असम के सीएम हिमंत बिस्वा सरमा और उनके मंत्रिमंडल के शपथ ग्रहण समारोह में मौजूद थे। पूर्व सीएम सर्बानंद सोनोवाल भी मौजूद रहे।

रविवार को गुवाहाटी में भाजपा विधायक दल द्वारा सर्वसम्मति से चुने जाने के बाद असम के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने आज राज्य के अगले मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली। पार्टी के सूत्रों के अनुसार, सरमा का नाम मुख्यमंत्री सरबानंद सोनोवाल द्वारा प्रस्तावित किया गया था। निर्णय के बाद, सरमा ने असम के लोगों को उनके ‘पवित्र विश्वास’ के लिए धन्यवाद दिया। उन्होंने ट्वीट करके  कहा कि  “मेरे दिल में असम की खुशबू और मेरी नसों में मेरे अद्भुत लोगों के प्यार के साथ, मैं आप सभी के लिए अपनी गहरी कृतज्ञता प्रदान करता हूं। मैं वह नहीं होता जो मैं हूं, यह मुझ में आपकी पवित्र आस्था के लिए नहीं था। इस दिन, मैं आप में से प्रत्येक के लिए काम करने के लिए और अधिक जोश के साथ असम के लिए शपथ लेता हूं।

असम के अगले मुख्यमंत्री चुने गए हिमंता बिस्वा सरमा  रविनेवार को जोर देकर कहा कि उनके पूर्ववर्ती सर्वानंद सोनोवाल ‘ मार्गदर्शक’ बने रहेंगे। सरमा ने सर्वसम्मति से राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद अपने संबोधन में कहा कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा, सोनोवाल और अन्य पार्टी नेताओं के आभारी हैं, जिन्होंने राज्य के लोगों की सेवा करने का उन्हें मौका दिया। इस मौके पर उन्होंने वादा किया कि वह अपने कर्तव्यों का ‘ प्रतिबद्धता एवं ईमानदारी’ से निर्वहन करेंगे। पूर्वोत्तर जनतांत्रिक गठबंधन (एनईडीए) के समन्वयक की जिम्मेदारी भी निभा रहे सरमा ने सोनोवाल की प्रशंसा करते हुए कहा कि उनका कार्यकाल ‘बेदाग रहा और एक भी भ्रष्टाचार के या अन्य आरोप नहीं लगे।’’

Related Articles

Back to top button
Close