फिटनेस मंत्रा

मानसून में बढ़ सकता है जोड़ों का दर्द, ऐसे करें देखभाल

मानसून में बढ़ सकता है जोड़ों का दर्द, ऐसे करें देखभाल


मानसून एक ऐसा मौसम होता है, तो हड्डियों के लिए परेशानी खड़ी कर सकता है। इन दिनों में आपकी हड्डियों में अधिक दर्द होता है, जिससे कभी-कभी अपने दैनिक काम करना भी काफी मुश्किल हो जाता है। नमी के स्तर में बदलाव, वायुमंडलीय दबाव, तापमान में अचानक बदलाव और वर्षा के कारण मानसून शुरू होते ही बहुत से लोगों को जोड़ों में दर्द, मांसपेशियों में अकड़न और चोट के दर्द का अनुभव होता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि उच्च आर्द्रता का स्तर रक्त को गाढ़ा कर सकता है, रक्त वाहिकाओं में रक्तचाप बढ़ा सकता है, और रक्त पंप करने के लिए किसी के शरीर को अधिक मेहनत कर सकता है। तो ऐसे में अपने जोड़ों की देखभाल करने के लिए आप कुछ आसान उपायों को अपना सकते हैं-

जरूर करें एक्सरसाइज

मानसून के दौरान जोड़ों के दर्द को मैनेज करने का सबसे अच्छा उपाय व्यायाम है। नियमित रूप से स्ट्रेचिंग और शारीरिक गतिविधियां इस तरह के दर्द को रोक कर रखेंगी। इस मौसम में लंबे समय तक बैठे रहने से बचना चाहिए। यदि काम के लिए लंबे समय तक बैठने की आवश्यकता है, तो सुनिश्चित करें कि आप हर आधे घंटे में खड़े हों और चलें।

लें हॉट शॉवर

गर्म पानी से नहाने से रक्त संचार बेहतर होता है और मानसून के दौरान जोड़ों का दर्द कम होता है। इसलिए, हॉट शॉवर लें।

इसे भी पढ़ें: हार्ट अटैक के इन लक्षणों को ना करें अनदेखा, जा सकती है जान
हॉट व कोल्ड कंप्रेस का लें सहारा

ऐसा करने से बारिश के मौसम में जोड़ों के दर्द और परेशानी से निपटने में मदद मिल सकती है। इसके अलावा, तेल लगाएं और रक्त परिसंचरण को बढ़ाने के लिए जोड़ों के क्षेत्र में धीरे से मालिश करें।

एसी का प्रयोग न करें

अगर आप मानसून में भी एसी का अधिक प्रयोग करते हैं, तो यह आपके जोड़ों की समस्या को बढ़ा सकता है और आपको दर्द हो सकता है। इसलिए, मानसून में एसी का इस्तेमाल करने से बचें

पीएं पर्याप्त पानी

बरसात के मौसम में जोड़ों के दर्द को प्रबंधित करने के लिए पानी की मात्रा का ध्यान रखना महत्वपूर्ण है। यदि आप पर्याप्त पानी पीते हैं तो यह आपको जोड़ों की लोच बनाए रखने में मदद करेगा। जिससे आपको अपेक्षाकृत कम दर्द होगा।

इसे भी पढ़ें: हाई ब्लड प्रेशर के इन लक्षणों को अनदेखा करना हो सकता है खतरनाक
संतुलित आहार लें

दर्द को मैनेज करने के लिए आपको अपने आहार में एंटी- इन्फ्लेमेटरी खाद्य पदार्थों को शामिल करना होगा। टमाटर, जैतून का तेल, हरी पत्तेदार सब्जियां, जैसे पालक, केल, साबुत अनाज, लीन प्रोटीन, नट्स, बीन्स, अंडे, दही, एवोकाडो, जामुन, ब्रोकोली, अलसी, सामन, गाजर, अदरक, अखरोट, अनानास, हल्दी खाएं। साथ ही, प्रोसेस्ड, जंक और डिब्बाबंद भोजन, शराब और धूम्रपान से दूर रहने की कोशिश करें।

Related Articles

Back to top button
Close