उत्तर प्रदेशराज्य

पांच हजार ऑडिशन के बाद ऐसे मिले थे महाभारत को दुर्योधन, अमिताभ बच्चन से लेकर आए थे पंगा

पांच हजार ऑडिशन के बाद ऐसे मिले थे महाभारत को दुर्योधन, अमिताभ बच्चन से लेकर आए थे पंगा

दूरदर्शन पर दिखाए जाने वाले धारावाहिक ऐसे थे, जिनका आज भी दर्शकों से उतना ही लगाव है। फिर चाहे बात, मोगली की हो, विक्रम बेताल की या फिर संस्कृति व पौराणिक कथाओं से जुड़े रामायण और महाभारत की। सभी धरावाहिकों को लोग बड़े चाव से देखा करते थे। तब के सीरियल में खासियत हुआ करती थी कि उसके किसी भी एपिसोड को पूरा परिवार एक साथ बैठकर एक ही टीवी स्क्रीन पर देख सकता था। अश्लीलता और अभद्रता की कोई जगह नहीं थी।

कई बार तो एक टीवी स्क्रीन पर पूरा परिवार ही नहीं बल्कि मोहल्ला और गांव रामायण-महाभारत जैसे पौराणिक धारावाहिक देखने पहुंच जाया करता था। आखिर ऐसा क्या था इन सीरियल्स में कि लोग खिंचे चले आते थे।

दरअसल, इनके किरदारों में खूब दम था। वो किसी भी भूमिका में जान फूंक देते थे। महाभारत की कास्टिंग से जुड़ा किस्सा आप पहले भी पढ़ चुके होंगे। इससे जुड़ी जूही चावला की कहानी से भी आप वाकिफ होंगे, लेकिन इसमें एक किरदार और है, जिसके अभिनय ने सबको प्रभावित किया और चर्चा में रहा। आज उसके बारे में भी आपसे जानकारी साझा करेंगे।

महाभारत के किरदारों को चुनने के लिए उस समय में पांच हजार ऑडिशन लिए गए थे। इतने ऑडीशन लेना बड़ी बात हुआ करती थी। क्योंकि तब आज की तरह कलाकारों का इतना मजमा नहीं हुआ करता था। इन पांच हजार लोगों में जब पुनीत को दुर्योधन का रोल मिला तो उनकी खुशी का ठिकाना नहीं था, लेकिन इसके लिए उन्हें काफी पापड़ बेलने पड़े थे। क्योंकि मेकर्स उन्हें इस भूमिका में लेने के लिए राजी नहीं थे।

दरअसल, पुनीत इस्सर वही अभिनेता थे, जिन्होंने फिल्म कुली की शूटिंग के दौरान अमिताभ बच्चन को गलती से जोरदार पंच लगा दिया था और बिग बी अस्पताल पहुंच गए थे। उस समय अमिताभ की जिंदगी पर बात बन आई थी और वे लगभग जीवन मृत्यु के बीच पहुंच गए थे। इसके बाद पुनीत को बाहर कर दिया गया था। उस समय पुनीत ने 1983 में अपने एक्टिंग करियर की शुरुआत ही की थी और उनके साथ यह घटना हो गई थी, जिस कारण कोई उन्हें काम देने को तैयार नहीं था। खासकर विलेन का रोल तो बिल्कुल नहीं। यही कारण था कि महाभारत के मेकर्स भी उन्हें दुर्योधन जो मुख्य प्रतिद्वंद्वी की भूमिका थी, देना नहीं चाहते थे।

पुनीत लंबी-चौड़ी कद काठी वाले कलाकार थे। इसलिए बीआर चोपड़ा की महाभारत में उन्हें भीम के किरदार के लिए सटीक माना जा रहा था। इसका पूरा खुलासा उन्होंने एक दफा अपने इंटरव्यू में किया था। उन्होंने कहा था कि मैंने चोपड़ा साहब, पंडित नरेंद्र और संवाद लेखक राही मासूम रजा के सामने ही जयद्रथ वध का पाठ कर दिया था। वे सभी मेरे शक्तिशाली भाषण से आश्वस्त हो गए थे और आखिरकार मुझे दुर्योधन के रूप में चुनने का फैसला किया। तो इस तरह महाभारत को दुर्योधन मिले थे।

Related Articles

Back to top button
Close